About the author

Related Articles

One Comment

  1. 1

    Nilesh Gore

    इस दूरदर्शी चेहरे के सपनो की तोड़ – फोड़ तो कई बार की गयी लेकिन यह चेहरा, अब कोई ख़ुदग़रजी का लिबास नही है, ना ही फर्जी. यहा चेहरा अब लखो लोगों के प्यार के पहचान की निशानी बन चुका है. इस चेहरे ने अब कसम खाई है मिटानेकी उन ज़रख़ीद की जो कुछ विषैले व्यक्तिओने फैलाई है.
    people have vandalized the visions of this visionary may times, but now, This visage, is no mere veneer of vanity,but he is a vestige of the vox populi. Now this visage has vowed to vanquish these venal,virulent and vainglorious visions of vain and venomous oppositions.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

2016 Powered By Tech Varta Team